Aadhar Card Not Valid As Date Of Birth जन्म तिथि के लिए अब नहीं चलेगा आधार कार्ड, इसी माह से नया नियम हुआ लागू
| |

Aadhar Card Not Valid As Date Of Birth: जन्म तिथि के लिए अब नहीं चलेगा आधार कार्ड, इसी माह से नया नियम हुआ लागू

UIDAI की ओर से नियमों में बदलाव किया गया है. जी हां, अब से Aadhar Card पर लिखी जन्मतिथि किसी भी दस्तावेज में जन्मतिथि के लिए मान्य नहीं होगी। संबंधित दस्तावेजों के साथ जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक होगा। इसके बाद ही संबंधित दस्तावेज और आवेदन मान्य होंगे।

Aadhar Card Not Valid As Date Of Birth जन्म तिथि के लिए अब नहीं चलेगा आधार कार्ड, इसी माह से नया नियम हुआ लागू

नई व्यवस्था 1 दिसंबर से लागू हो गई है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) की ओर से इस संबंध में आदेश दिया गया है। यह कदम आधार में जन्मतिथि में तारीख, महीना और साल आदि बदलकर होने वाली धोखाधड़ी को रोकने के लिए उठाया गया है। यहां तक ​​कि नए बनाए गए Aadhar के लिए भी इसे जन्मतिथि के तौर पर इस्तेमाल न करने की जानकारी भी Aadhar Card पर अंकित की जा रही है। नया आधार कार्ड डाउनलोड करने पर इस संबंध में जानकारी लिखी होगी।

सत्यापन के लिए जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक है।

नई व्यवस्था के बाद आपको Aadhar Card के साथ जन्म प्रमाण पत्र भी देना होगा। Aadhar परियोजना के उपनिदेशक राकेश वर्मा ने बताया कि नए नियमों से चाहे स्कूल या कॉलेज में दाखिला हो या पासपोर्ट बनवाना हो, हर जगह Aadhar का इस्तेमाल महज पहचान दस्तावेज के तौर पर किया जाएगा। जन्मतिथि के सत्यापन हेतु जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक होगा।

और पढ़ें-:  PM Kisan Tractor Yojana: सरकार सभी किसानो भाई को नया ट्रेक्टर खरीदने पर दे रही 50% सब्सिडी 2024 ?आज ही करे अप्लाई

क्यों बदले नियम?

Aadhar में जन्मतिथि और नाम को बार-बार बदलकर लोग पेंशन योजना, प्रवेश, खेल प्रतियोगिता आदि सहित विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए धोखाधड़ी कर रहे थे। हालांकि, UIDAI द्वारा कई बार सख्त कार्रवाई की गई थी। लेकिन इसमें सफलता नहीं मिल सकी. इसके बाद इसमें बदलाव किये गये हैं।

गौरतलब है कि आधार परियोजना की शुरुआत 2009 में हुई थी. बाद में आधार कार्ड को एक विशिष्ट पहचान पत्र मानकर सभी सुविधाओं से जोड़ दिया गया. जिसके पास आधार कार्ड नहीं होगा वह सरकारी सुविधाओं का लाभ नहीं उठा सकेगा।

जन्म तिथि को प्रमाणित करने हेतु आधार कार्ड के अलावा किन दस्तावेजो को मिलेगी मान्यता?

Aadhar card  को  जन्म तिथि  कोे  प्रमाणित  करने हेतु  साक्ष्य  के तौर पर  स्वीर  नहीं किया जायेगा इसीलिए अब आप आधार कार्ड  की जगह पर दूसरे दस्तावेजो   जैसे कि –  पैन कार्ड, 10वीं का प्रमाण पत्र / अंक पत्र, 12वीं कक्षा का प्रमाण पत्र / अंक पत्र, ड्राईविंग लाईसेंस, पासपोर्ट आदि  का उपयोग किया जा सकेगा आदि।

Official Websiteयहाँ क्लिक करें

FAQ

अगर Aadhar Card अपडेट नहीं है तो क्या करें?

ऐसा इसलिए है क्योंकि Aadhar को सिस्टम में अपडेट किया जा रहा है और इसमें कम से कम 90 दिन लगते हैं। हालाँकि, यदि स्थिति 90 दिनों के बाद भी वही रहती है, तो आप टोल-फ्री नंबर – 1947 डायल करके अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं या सहायता के लिए उन्हें help@uidai.gov.in पर ईमेल कर सकते हैं।

और पढ़ें-:  RFCL Recruitment 2024: 35 विभिन्न पदों के लिए अभी आवेदन करें

क्या कोई मेरे मूल आधार कार्ड का दुरुपयोग कर सकता है?

नहीं बस, आपका आधार नंबर जानने से कोई आपको नुकसान नहीं पहुंचा सकता। यह पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि जैसे किसी भी अन्य पहचान दस्तावेज की तरह है, जिसे आप सेवा प्रदाताओं के साथ दशकों से स्वतंत्र रूप से उपयोग कर रहे हैं।

आधार कार्ड पर सुप्रीम कोर्ट का नवीनतम फैसला क्या है?

सोमवार, 27 मार्च, 2023 को सुप्रीम कोर्ट ने घोषणा की कि सरकारी आवश्यक सेवाओं का उपयोग करने के लिए आधार (यूआईडी) नंबर प्राप्त करना आवश्यक नहीं है, सूत्रों के अनुसार. सुप्रीम कोर्ट की मिसालों की सूची इस प्रकार है: स्कूलों में प्रवेश के लिए अब आधार कार्ड की आवश्यकता नहीं होगी।

आधार कार्ड कितने साल में अपडेट कराना चाहिए?

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने नागरिकों को अपने आधार विवरण 
हर 10 साल में अपडेट करने की सलाह दी है। सटीक डेटा और परेशानी मुक्त प्रमाणीकरण प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए इसकी अनुशंसा की गई है।

मेरा आधार कार्ड नंबर अमान्य क्यों है?

नंबर में टाइपो या गलतियाँ: सुनिश्चित करें कि आपने बिना किसी टाइपो या गलती के सही 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज किया है। अमान्य प्रारूप: आधार संख्या को सही प्रारूप में दर्ज किया जाना चाहिए, जिसमें 4 अंकों के ब्लॉक के बीच का स्थान भी शामिल है।

Similar Posts