Aadhaar card: आधार कार्ड को लेकर दूर कर लीजिए अपनी गलतफहमी

Aadhaar card: आधार कार्ड को लेकर दूर कर लीजिए अपनी गलतफहमी

Aadhaar card: आज आधार (Aadhar) कार्ड पहचान का सबसे महत्‍वपूर्ण दस्‍तावेज बन चुका है। यही कारण है कि बैंक खाता खोलने से लेकर होटल में कमरा बुक करने तक में इसका इस्तेमाल हो रहा है। लेकिन, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के बैंगलुरु क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा जारी एक प्रेस नोट के बाद आधार के इस्तेमाल को लेकर लोगों के मन में संशय उत्‍पन्‍न हो गया है। प्रेस नोट में आधार की फोटोकॉपी सिनेमा हाल और होटल में न देने की सलाह दी गई थी। इसका कारण यह बताया गया था कि ये आधार के लाइसेंस्‍ड यूजर्स नहीं हैं और इन जगहों पर आधार फोटोकॉपी का मिस्‍यूज़ हो सकता है।

Aadhaar card: आधार कार्ड को लेकर दूर कर लीजिए अपनी गलतफहमी

हालांकि, बाद में यूआईडीएआई ने अपने इस प्रेस नोट को वापस ले लिया और कहा कि आधार कार्डधारकों को अपने आधार नंबर का उपयोग करने और उसे शेयर करते समय सामान्‍य विवेक का सहारा लेना चाहिए। यूआईडीएआई ने बताया कि आधार पूरी तरह सुरक्षित है और इसकी सुरक्षा के पुख्‍ता प्रबध किए गए हैं। अब आधार यूजर्स यूआईडीएआई की “सामान्‍य विवेक” उपयोग करने की सलाह को लेकर भ्रम में हैं कि आखिर वे कहां आधार कार्ड को पहचान-पत्र के रूप में प्रयोग करें और कहां नहीं।

क्‍या होटल, सिनेमा हॉल में यह जरूरी है?

 मनीकंट्रोल डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार होटल, मॉल या ऐसे ही कई दूसरे संस्‍थान अपने ग्राहक से उनकी पहचान के लिए किसी पहचान-पत्र की मांग कर सकते हैं, लेकिन वो ये निर्धारित नहीं कर सकते कि आप उन्‍हें कौन-सा पहचान-पत्र देंगे। मुंबई की लॉ फर्म पायनियर लीगल के पार्टनर अनुपम शुक्‍ला का कहना है कि पहचान और निवास के प्रमाण के रूप में बहुत से दस्‍तावेजों में से एक दस्‍तावेज है। होटल आदि जगहों पर आप आधार की जगह वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट जैसे दूसरे पहचान-पत्र भी दे सकते हैं।

और पढ़ें-:  TPSC Senior Computer Assistant Recruitment 2024: 33 पदों के लिए भर्ती

डेटा प्राइवेसी कंसल्‍टेंट ऋषि वधवा का कहना है कि जब भी कोई निजी संस्‍थान आपसे आधार की मांग करे तो उन्‍हें वोटर आईडी जैसे अन्‍य पहचान-पत्र लेने के बारे में जरूर पूछें। अगर वे आधार देने पर ही जोर दें तो उन्‍हें आधार की डिजिटल मॉस्‍क्‍ड कॉपी दें।

म्‍युचूअल फंड में बिना आधार करें निवेश

म्‍युचूअल फंड में निवेश के लिए केवाईसी (KYC) ऑनलाइन और ऑफलाइन, दोनों तरीकों से की जा सकती है। फिजिकल प्रोसेस में निवेशक को अपने पैन कार्ड के साथ केंद्र और राज्‍य सरकार द्वारा जारी वैध अन्‍य दस्‍तावेज निवास प्रमाण के रूप में देना होता है। आधार भी इनमें से एक दस्‍तावेज है। ऑनलाइन केवाईसी में आधार की जरूरत होती है। लेकिन, इसके लिए भी आधार की फोटोकॉपी  म्‍युचूअल फंड, रजिस्‍ट्रार या ट्रांसफर एजेंट्स को भेजनी की जरूरत नहीं है। ईकेवाईसी ओटीपी के जरिए आधार ऑथेंटिकेशन कर पूरी की जा सकती है।

हर बैंक अकाउंट के लिए जरूरी नहीं आधार

बैंक अकाउंट खोलने के लिए आधार जरूरी नहीं है। आधार ऐसे बैंक अकाउंट को खोलने के लिए अनिवार्य है, जिसमें सरकारी सब्सिडी का लाभ उठाया जाता है। अगर आपके बैंक खाते में किसी सरकारी योजना के तहत सब्सिडी नहीं आनी है तो आप बैंक अकाउंट बैंक को बिना आधार कार्ड दिए भी खुलवा सकते हैं। बैंकबाजार के प्रवक्‍ता का कहना है कि ग्राहक यूआईडीएआई से वर्चुअल आईडी क्रिएट कर उसे आधार की जगह दे सकते हैं। यह आधार कार्ड की फोटोकॉपी देने से ज्‍यादा ठीक है।

अब तो भारतीय स्‍टेट बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक डिजिटल अकाउंट ऑफर कर रही हैं, जिसमें आपकी ईकेवाईसी ओटीपी आधारित आधार ऑथेंटिकेशन प्रक्रिया से पूरी की जाती है। वीडियो केवाईसी में भी आधार कार्ड की जरूरत होती है। जेटा इंडिया इंडियन सबकॉन्टिनेंट के बैंकिंग प्रसीडेंट मुरली नायर का कहना है कि अगर कोई बैंक अधिकारी वीडियो केवाईसी प्रोसेस में आधार मांगता है तो आधार के मध्‍य के 4 अंकों को छुपा लेना चाहिए, ताकि आपके आधार के सारे अंक नहीं दिखे और इसके दुरुपयोग की संभावना भी नगण्‍य हो जाए।

और पढ़ें-:  Ladli Behna Awas Yojana 2023 : सभी महिलाओं को मिलेंगे 1,20,000 रुपये, लाड़ली बहना आवास योजना की ग्रामवार सूची जारी

बीमा पॉलिसी के लिए भी आधार की जरूरत नहीं

कवरफॉक्‍स डॉट कॉम के सीईओ संजीब झा का कहना है कि बीमा पॉलिसी का आधार के साथ लिंक्‍ड होना अनिवार्य नहीं है। अगर कोई व्‍यक्ति ई-केवाईसी के लिए आधार का प्रयोग करता है तो ऐसा करते वक्‍त उसे सावधानी बरतनी चाहिए ताकि उसके आधार का कोई दुरुपयोग न कर पाए। बजाज एलियांज जनरल इंश्‍योरेंस के ऑपरेशन्‍स एंड कस्‍टमर सर्विस के हेड और सीनियर प्रेसीडेंट केवी दीपू का कहना है कि बीमा पॉलिसी के लिए मॉस्‍क्‍ड आधार कॉपी और वर्चुअल आईडी भी दे सकते हैं। ओटीपी बेस्‍ट प्रोसेस से आधार ऑथेंटिकेशन पूरा कर लिया जाता है।

Official websiteClick here

FAQ

आधार का उपयोग किस लिए किया जा सकता है?

आधार का उपयोग किसी भी सिस्टम में किया जा सकता है, जिसे निवासी की पहचान स्थापित करने और/या सिस्टम द्वारा दी जाने वाली सेवाओं/लाभों तक निवासी को सुरक्षित पहुंच प्रदान करने की आवश्यकता होती है।

क्या किसी को अपना आधार कार्ड नंबर देना ठीक है?

आपको किसी भी प्रकार की परिस्थिति में अपना आधार या किसी भी प्रकार का आईडी प्रमाण अजनबियों के साथ साझा नहीं करना चाहिए।

क्या होटलों में आधार कार्ड देना सुरक्षित है?

यूआईडीएआई नियमों के अनुसार केवल सत्यापित और लाइसेंस प्राप्त संस्थाओं को ही किसी विशिष्ट उद्देश्य के लिए किसी व्यक्ति का आधार विवरण एकत्र करने और संग्रहीत करने की अनुमति है। इसलिए पब, सिनेमा हॉल और होटल जैसी बिना लाइसेंस वाली संस्थाएं आपका आधार एकत्र और संग्रहीत नहीं कर सकती। इस प्रकार की स्थितियों में मास्क्ड आधार का उपयोग करें।

मुझे कैसे पता चलेगा कि कोई मेरे आधार कार्ड का उपयोग कर रहा है?

यूआईडीएआई वेबसाइट पर होस्ट की गई आधार प्रमाणीकरण इतिहास सेवा पिछले छह महीनों में व्यक्तिगत निवासी द्वारा किए गए आधार प्रमाणीकरण के लिए विस्तृत प्रमाणीकरण लेनदेन लॉग प्रदान करती है। एक बार में अधिकतम 50 रिकॉर्ड देखे जा सकते हैं।

क्या आधार कार्ड मांगना कानूनी है?

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार, सरकारी सब्सिडी को छोड़कर, कोई भी आधार पर जोर नहीं दे सकता। अन्य आईडी भी समान रूप से अच्छी हैं।

Similar Posts